जामिया ने देशभक्ति के जोश और उमंग के साथ मनाया 76वाँ स्वतंत्रता दिवस

जामिया मिल्लिया इस्लामिया ने आज ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ (AKAM) के तहत 76वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाया। जामिया की कुलपति प्रो. नजमा अख्तर और समारोह के मुख्य अतिथि श्री वेदमणि तिवारी, सीओओ और कार्यवाहक सीईओ, राष्ट्रीय कौशल विकास परिषद (एनएसडीसी) ने विश्वविद्यालय के डॉ एम ए अंसारी ऑडिटोरियम के लॉन में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। ध्वजारोहण समारोह में पहुंचने पर एनसीसी अधिकारियों व कैडेटों ने मुख्य अतिथि व कुलपति का स्वागत किया। राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद विश्वविद्यालय के छात्रों और कर्मचारियों द्वारा राष्ट्रगान गाया गया।

कुलपति और मुख्य अतिथि ने विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संकाय सभागार में सभा को संबोधित किया, जहां संबोधन के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। विश्वविद्यालय के छात्रों ने जामिया तराना गाया और जामिया स्कूल के छात्रों ने देशभक्ति गीत, कव्वाली, भाषण आदि पर अपने प्रदर्शन से सभा को मंत्रमुग्ध कर दिया।

इस वर्ष आवासीय कोचिंग अकादमी (आरसीए), जामिया से यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में शीर्ष हासिल करने वालों को समारोह के दौरान कुलपति और मुख्य अतिथि द्वारा सम्मानित किया गया। हाल ही में नासा समर कैंप में भाग लेने वाले जामिया स्कूल के चार छात्रों को भी सम्मानित किया गया और AKAM के तहत आयोजित हर घर तिरंगा थीम पर पोस्टर प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार और प्रमाण पत्र दिए गए।

अपने संबोधन के दौरान कुलपति प्रो. नजमा अख्तर ने कहा, “जामिया पूरी लगन से देश की गौरवशाली परंपराओं को आगे बढ़ा रहा है। देश को प्रगतिशील, शक्तिशाली और गौरवशाली बनाए रखने में विश्वविद्यालय अपनी महत्वपूर्ण और अनूठी भूमिका निभा रहा है। हम सभी जानते हैं कि राष्ट्र की प्रगति हम सभी की प्रगति है।”

उन्होंने आगे कहा कि हमें बहुत खुशी है कि जामिया द्वारा देश की प्रगति के लिए उठाया गया हर कदम हमेशा सरकार की नज़र में भी तारीफ के काबिल रहा है। हम सभी अपनी मेहनत से राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभा रहे हैं। विश्वविद्यालय ने एनआईआरएफ में तीसरा स्थान हासिल किया है और इसका श्रेय आप सभी को जाता है।

समारोह के मुख्य अतिथि श्री वेदमणि तिवारी ने कहा कि मुझे इस समारोह में शामिल होकर बहुत खुशी हो रही है, जिससे उन्हें स्कूल और विश्वविद्यालय के छात्रों सहित युवाओं के एक समूह से मिलने का मौका मिला है। जामिया जैसी संस्था के स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल होना एक बहुत अच्छा एहसास है क्योंकि जामिया स्वतंत्रता संग्राम से पनपा था और वर्तमान में देश का तीसरा शीर्ष विश्वविद्यालय है। “यह मेरे संगठन एनएसडीसी के लिए कौशल निर्माण और अन्य क्षेत्रों के लिए जामिया के साथ सहयोग करने का एक अच्छा अवसर और सौभाग्य होगा। मुझे उम्मीद है कि भविष्य में हम ऐसा होते हुए देखेंगे।” श्री तिवारी ने कहा।

जामिया के रजिस्ट्रार प्रो. नाज़िम हुसैन जाफ़री ने समारोह के सफल आयोजन के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। समारोह के समापन में सभा द्वारा राष्ट्रगान गाया गया।

विश्वविद्यालय पिछले कुछ दिनों से जश्न की स्थिति में है क्योंकि राष्ट्र अपनी स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष को पूरा कर रहा है। AKAM के हिस्से के रूप में विश्वविद्यालय ने हर घर तिरंगा अभियान को सफल बनाने के लिए विश्वविद्यालय के सभी महत्वपूर्ण स्थानों और भवनों पर पहले से ही तिरंगा फहरा दिया है। स्वतंत्रता दिवस से पहले विश्वविद्यालय और जामिया के स्कूल हर घर तिरंगा थीम पर पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता, तिरंगा यात्रा, मैराथन, झंडा वितरण, ‘पार्टिशन हॉरर्स रिमेम्बरेंस डे’ चित्रात्मक और काव्य प्रस्तुति द्वारा ब्रिटिश शासन की भयावहता, मादक द्रव्यों के सेवन से मुक्ति पर नुक्कड़ नाटक, कवि सम्मेलन और मुशायरा और कई अन्य कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं। ।

Open chat
1
हमसे जुड़ें:
फेसबुक पेज: https://www.facebook.com/pg/thehindrashtra
फेसबुक ग्रुप: https://www.facebook.com/groups/hindrashtra/?ref=share
टेलीग्राम: https://t.me/thehindrashtra
इंस्टाग्राम: https://www.instagram.com/hindrashtra
ट्विटर: https://twitter.com/TheHindRashtra?s=09
व्हाट्सएप: https://chat.whatsapp.com/LKdobpxgWs8IY4zibNDF85
यूटूब: https://www.youtube.com/c/HindRashtra/featured
लिंक्डइन https://www.linkedin.com/in/hindrashtra